पर्यवलोकन
जे.एस.के.  के कार्य
जे.एस.के.  किस प्रकार भिन्न है?
जे.एस.के.  की निधि

सदस्यता का पंजीकरण

दान और अंशदान
राज्य स्तर पर स्वास्थ्य संबंधी आंकड़े
जिला स्तर पर स्वास्थ्य संबंधी आंकड़े
आयोजन

विश्व की जनसंख्या

भारत की जनसंख्या

जनसंख्या का विषय महत्वपूर्ण क्यों है ?
सरलीकृत जनसंख्या की अवधारणा
सरकार के प्रचलित कार्यक्रम
जनसंख्या से संबंधित संपर्क

यौन और जनन स्वास्थ्य पर प्राय पूछे जाने वाले प्रश्नः

  सीधे उत्तर

सोसाइटी पंजीकरण अधिनियम, 1860 के अधीन स्थापित जनसंख्या स्थिरता कोष (जे.एस.के) (राष्ट्रीय जनसंख्या स्थिरीकरण निधि) को एक स्वायत्त सोसाइटी के रूप में पंजीकृत किया गया है।जे.एस.के का लक्ष्य ऐसे क्रियाकलाप करना एवं उन्हें प्रोत्साहित करना है जिनका उद्देश्य धारणीय आर्थिक विकास, सामाजिक विकास और पर्यावरण संरक्षण की आवश्यकताओं के अनुरूप स्तर पर सन् 2045 तक जनसंख्या स्थिर करना हो।

 

जनसंख्या स्थिर कोष का सामान्य निकाय केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री की अध्यक्षता में कार्य करता है और स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, विद्यालय शिक्षा एवं साक्षरता विभाग, महिला एवं बाल विभाग, योजना आयोग, ग्रामीण विकास मंत्रालयों के सचिव, राज्य स्वास्थ्य सचिव जे.एस.के. के सामान्य निकाय के सदस्य हैं। इसके अतिरिक्त,  इसके सामान्य निकाय में जनसाख्यिक, उद्योग और व्यापार गैर-सरकारी संगठनों, चिकित्सा और परिचिकित्सा संघों, आम, नागरिकों, संस्थाओं आदि के प्रतिनिधि भी शामिल होते हैं जनसंख्या स्थिरता कोष से आशा की जाती है कि वह एक सिविल सोसाइटी के आंदोलन के रूप में कार्य करे।

                                                                                                      और..

 

जनसंख्या सिद्धांतों का हिन्दी में अनुवाद करने का यह पहला प्रयास है। भाषा तथा तथ्यों का ध्यान रखा गया है, फिर भी आपके सुझाव आमंत्रित हैं। लिखें jsk[dot]npsf[at]nic[dot]in "जिला स्तर पर स्वास्थ्य संबंधी आंकड़े" तथा "आयोजन" का हिन्दी में अनुवाद एक चालू प्रक्रिया है तथा यह जल्द  पूरी कर ली जाएगी।

New Page 2

  प्रतिलिपि अधिकार 2007,  जनसंख्या स्थिरता कोष , सर्वाधिकार सुरक्षित